Essay On Radio In Hindi Language

रेडियो

आकाशवाणी अथवा रेडियो आधुनिक विज्ञान की एक ऐसी दें है जिसने आधुनिक मानव – समाज को सर्वाधिक प्रभावित एव आकर्षित किया है | यह एक ऐसा श्रव्य माध्यम है जो अनेक प्रकार की जानकारियाँ , शिक्षाएँ, समाचार आदि देने के साथ –साथ घर बैठे-बैठे अनेक तरह से हमारा मनोरंजन भी किया करता है | यह मानव का बहुत अच्छा मित्र है |

रेडियो का अविष्कार इटली के मार्कोनी नामक एक वैज्ञानिक ने किया था | उसने शान्त जल में पत्थर का टुकड़ा फेकने से उत्पन्न लहरों से प्रेरणा पाकर ही इसका आविष्कार किया था | इसके बाद कई वैज्ञानिकों ने रेडियो में काफी सुधार किए है | उनके सुधार के फलस्वरूप ही यह अधिक उपयोगी एव महत्त्वपूर्ण बन पाया है | आज यह इतना सरल साधन बन गया है कि इसे हम ट्रांजिस्टर के रूप में अपनी जेबों तक में लिए घूम-फिर सकते है | रेडियो को जन-जन तक पहुँचाने वाला पहला केन्द्र सन 1921 ई. में इंग्लैण्ड में स्थापित किया गया था | वहाँ से पहली बार इंग्लैण्ड से लेकर न्यूजीलैण्ड तक समाचार प्रसारित एव प्रेषित करके इस आविष्कार ने सारे विश्व को चकित एव विस्मित कर दिया था |

सर्वप्रथम तो रेडियो से केवल संवाद ही सुने जाते थे | बाद में अनेक वैज्ञानिकों के सुधार ने बाद तो उसके द्वारा गीत, संगीत , कविता , कहानी और नाटक आदि भी सुने जाने लगे | इसके द्वारा कार्यक्रमों को प्रसारित करने के लिए विश्व के कई देशो में रेडियो – स्टेशन खुले | बाद में इसके व्यापक प्रचार के साथ-साथ ये रेडियो – स्टेशन प्रमुख नगरो में भी स्थापित होते गए | आज तो आकाशवाणी का उपयोग कई प्रकार से हो रहा है तथा इसका महत्त्व भी दिन-प्रतिदिन बढ़ता जा रहा है | यह हजारो –लाखो कलाकारों, तकनिशियनो, निर्माताओ , विक्रेताओ व् अन्य कर्मचारियों के घर – परिवारों के लिए रोटी –रोजी का साधन बना हुआ है | इसके माध्यम से व्यापारी वर्ग अपनी वस्तुओ के विज्ञापन  देकर अपने लाभ में वृद्धि कर लेते है | यह प्रतिदिन प्रात : से लेकर साय तक ताजे समाचारों के अनेक बुलेटिन प्रसारित करके लोगो की जानकारियों  को सहज ही अन्तर्राष्ट्रीय आयाम प्रदान कर देता है | यह हमे नई-से-नई सूचनाएँ ,क्रषि-कार्यो और मौसम आदि की जानकारी भी देता रहता है | इसके द्वारा खोया –पाया, रेलवे और वायुयान आदि की समय –सारिणी तथा बाजार – भाव भी बताए जाते है | इन्ही सब तथ्यों के आधार पर इसके महत्त्व को समझा जा सकता है | विज्ञान की एक महत्त्वपूर्ण देंन आज का एक सदाबहार आविष्कार बन गया है | उपरोक्त तथ्यों के आधार पर आकाशवाणी को ‘भानुमती का  पिटारा’ कहना सर्वथा उचित है |

February 5, 2017evirtualguru_ajaygourHindi (Sr. Secondary), LanguagesNo CommentHindi Essay, Hindi essays

About evirtualguru_ajaygour

The main objective of this website is to provide quality study material to all students (from 1st to 12th class of any board) irrespective of their background as our motto is “Education for Everyone”. It is also a very good platform for teachers who want to share their valuable knowledge.

Friendship Essay In Hindi Essay Topics

Friendship Essay In Hindi Essay Topics

Essay On Our Social Problems In Hindi

Essay On Compulsory Military Training In School Essay In Hindi

Essay On Importance Of Saving In Hindi

Sample Essay On The Magic Of Science In Hindi

Essay On The Terrorism In Hindi

Essay On The Importance Of Time In Hindi

Hindi Language Essays Essay On Our National Language In Hindi

Essay On Holi In Hindi Language

Essay On The Earthquake In Hindi

Essay On A To Mumbai In Hindi

Friendship Essay In Hindi Essay Topics

Corruption Essay Hindi

Essay On The The Importance Of Plantation For Pollution

Essay On Badminton In Hindi

Language Essays

Essays In Hindi Top Custom Essay Sites

Essay On River Ganga In Hindi

Essay On Internet In Hindi Language Coursework Service

One thought on “Essay On Radio In Hindi Language

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *